सोमवार, 24 अप्रैल 2017

घर में भी चलाएं स्वच्छता अभियान


सफाई करते समय सबसे पहला सवाल होता है कि सफाई आखिर कहां से शुरू करें।  एक्सपर्ट का कहना है कि घर की सफाई की शुरूआत घर की सीलिंग  से की जानी चाहिए।  उसके बाद दीवारें, खिड़कियां, केबिनेट, फर्नीचर और अंत में फ्लोर साफ करें।


आम तौर पर घरों में नियमित साफ-सफाई पर ध्यान ही नहीं दिया जाता।  घरों की छतों, पंखों में जाले लगे होते हैं और धूल-मिट्टी की तह जमा हो जाती है। बाथरूम में भी गंदगी दिखाई देती हैं।  यहां पेश है सीलिंग से लेकर वाॅशरूम तक की साफ-सफाई के आसान तरीके -
मकड़ी के जाले साफ करने के लिए
कमरे की सीलिंग पर बने हुए मकड़ी के जालों को हटाने के लिए मकड़ी के जाले के लिए बने हुए ब्रश का इस्तेमाल करें।  ब्रश से कमरे के हर कोने को साफ करें।  कई बार कुछ जाले ऐसे भी बनते हैं जोकि आसानी से दिखाई भी नहीं देते।
सीलिंग पर जमी हुई गंदगी साफ करने के लिए
लंबे ब्रश से आप सीलिंग पर जमी हुई गंदगी को साफ कर सकती हैं।  इसके लिए मैग्नेटिक वाले डस्टर भी आते हैं आप उन्हें भी इस्तेमाल में ला सकते हैं।
जहां पर लाईट लगी होती हैं या दीवार में छेद हो गए हों उस जगह की भी सफाई करें।  अक्सर मिट्टी वहीं पर इक्ðी होती है।  इसके लिए वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करें।  वैक्यूम क्लीनर के साथ लंबी एक्सटेंन्शन लगाकर टिप पर ब्रश लगा दें इससे मिट्टी दूसरी जगहों पर नहीं फैलेगी।
तेल के दाग मिटाने के लिए
किचन की सीलिंग पर से तेल के दाग मिटाने के लिए पहलेे गीले कपड़े से उसे साफ करें।  फिर स्पांज को क्लीनर और पानी के साल्यूशन में डालकर जगह को साफ करें।  फिर पोंछे को साफ करके सीलिंग को पोंछ दे।  सीलिंग को सूखने दें ताकि पानी के स्पाॅट हट जाएं।
वाॅल पेपर सीलिंग के लिए
वाॅलपेपर सीलिंग को साफ करने के लिए डिशवाशिंग डिर्टजंेट और पानी का साॅल्यूशन बनाएं और उसमें स्पांज डिप करके उससे सफाई करें।  फिर पोंछे से उसे सुखा दें।  इसकी सफाई करते हुए न ही ज्यादा स्पांज में पानी रहे और न ही पोंछे में। अंत में जल्द ही उसे सूखे कपड़े से सुखा दें।
टेक्सचर सीलिंग के लिए
टेक्सचर वाली छतों के लिए वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करें।  वैक्यूम क्लीनर पर लंबी एक्सटेशन लगाकर टिप पर साफ्ट ब्रश लगाएं।  यदि आप इस तरह की सीलिंग के लिए वाइप डाउन वाली तकनीक का इस्तेमाल करेंगें तो इससे सीलिंग की टेक्सचर को बहुत नुकसान पहंुचेगा।
वाॅषरूम की साफ-सफाई
खिड़की और मिरर के लिए
खिड़की और मिरर को ग्लास क्लीनर और पेपर टाॅवल से साफ करें।  ब्लीच का इस्तेमाल न करें इससे ग्लास सही तरीके से साफ नहीं होगा
सीलिंग के लिए
ब्लीच वाॅटर साॅल्यूशन को स्प्रे बाॅटल में लेकर सीलिंग पर लगे दागों को साफ करें।
फ्लोर के लिए
हाॅट सोप ब्लीच वाॅटर का इस्तेमाल बाथरूम की फ्लोर को साफ करने के लिए करें ताकि बाथरूम की फ्लोर पर साबुन न चिपका रहे।
बाथरूम की दीवार और फ्लोर को साफ करने के लिए ब्रश का इस्तेमाल करें और फिर साफ पानी से धो लें।
सिंक को साफ करने के लिए नाॅन अब्रेसिव क्लीनर का इस्तेमाल करें। क्लीनर लगाने के बाद 30 मिनट का इंतजार करें फिर उसे ठंडे पानी से साफ कर दें।  सारे मुश्किल दाग चले जाएंगे।
बाथटब के लिए
बाथटब और सिंक को साफ करने के लिए गर्म पानी में कुछ बूंदे डिशवाशिंग डिर्टजेंट मिला लें इससे सफाई बिना रगड़े ही हो जाएगी।
डोर के लिए
मेटल शाॅवर डोर को साफ करने के लिए लेमन आॅयल का इस्तेमाल करें।  इससे पानी के दाग जल्दी से हट जाते हैं और नए भी नहीं बनते।
ग्लास शाॅवर डोर के लिए स्पाॅज में विनेगर में डिप करके सप्ताह में एक बार साफ करें।
शाॅवर डोर ट्रैक को साफ करने के लिए टूथब्रश या काॅटन स्वैब का इस्तेमाल करें।
घर पर ही बनाएं डिटर्जेंट
1/4 कप बेकिंग सोडा, 1/4 कप लिक्विड डिर्टजेंट और 1/4 कप गर्म पानी को मिलाकर टाॅयलेट सीट पर लगाएं और उसे टाॅयलेट ब्रश से साफ करें फिर पानी से साफ कर दें।  यदि आप टाॅयलेट सीट रोज साफ करते हैं तो आपको स्क्रब करने की जरूरत नहीं है।
हमेशा याद रखें गंदे कपड़े इधर-उधर न फैलाएं। उनके लिए बाॅसकेट का इस्तेमाल करें।

साफ-सफाई करते समय ध्यान रखने योग्य बातें:-
कमरे के फर्नीचर, फिक्सचर और फ्लोर को पोलीथीन शीट या किसी और चीज से ढक दें।
सीलिंग की सफाई के लिए सीढ़ी या स्टूल का इस्तेमाल न करें। इसके बजाय लंबे हैंडिल वाली चीज का प्रयोग करें।
आंखों को कवर करने के लिए गौगल या कपड़े का इस्तेमाल करें।
यह ध्यान रखें कि पानी या क्लीनिंग डिटर्जेंट दीवारों पर न गिरे।
मकड़ी के जालों को सीलिंग या दीवार पर कपड़े से रगड़कर साफ न करें। नहीं तो उससे दीवार की फिनिश भी खराब हो जाएगी और वह उस जगह पर निशान भी छोड़ देगा।






special post