यह ब्लॉग खोजें

मंगलवार, 30 मई 2017

ऑफिस में खुशी मिलेगी दोबारा

www.mainaparajita.blogspot.inx


  नौकरी करने वाले हर व्यक्ति के लिए यह जरूरी है कि वह अपने ऑफिस में खुश रहे और इसके लिए सबसे पहले अपने काम को लेकर गंभीरता से सोचे। सबसे पहले उसे यह सोचना होगा कि उसके पास कौन- कौन से दायित्व है और उनको पूरा करने के लिए उसे सकारात्मक तरीके से सोचना होगा। मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि यदि खुशियों को अपना साथी बनाना है तो सबसे पहले समय पर काम करने की आदत विकसित करनी होगी। तभी  आप फील गुड फेक्टर का अहसास कर सकेंगे। आपके काम की वजह से ही आपको ऑफिस में विशेष स्थान मिलता है, प्रोन्नति  मिलती है।  दूसरा किसी एक ऐसी एक्टिविटी से खुद को जोड़े जिसे करने में आपको मजा आता हो। वह कोई खेल भी हो सकता है ।

 अपने बॉस को अपने कामकाज के बारे में बताएं साथ ही अपनी रुचि के बारे में भी बताएं जैसे, आपको किस तरह के काम करने में सबसे मजा आता है। अगर आपको उस काम की जिम्मेदारी सौंपी जाएं तो आप बेहतर कर सकते हैं।  इस बात को समझने को कोशिश करें कि कि आपसे कामकाज को लेकर क्या उम्मीदें हैं। अपने नियमित कामकाज की जानकारी अपने बॉस को अवश्य दें। कभी भी कोई नकारात्मक बात न करें खासकर अपने कामकाज को लेकर। अपने कामकाज की अधिकता को लेकर भी शिकायत न करें। यदि आप हमेशा नकारात्मक सोचेंगे तो हो सकता है कि आपकी नौकरी खतरे मे पड़ जाए फिर आप खुश कैसे रहेंगे। अपना मनोबल बढ़ाए रखने के लिए सकारात्मक सोचना बहुत जरूरी है। अपना दायरा बढ़ाए जिनके साथ रहने से आपके आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी हो। कभी भी हँसने को फालूत काम न कहें। बल्कि विपरीत स्थितियों में भी हंसने का आदत डालें। चुटकुले सुनें यह आपके तनाव को कम करता है जिससे आपका मूड ठीक रहता है।

special post

'me too' (मैं भी)-खयालात- सदन झा

आजकल वैश्विक स्तर पर 'me too' (मैं भी) अभियान चल रहा है। लड़कियां, महिलाएं, यौन अल्पसंख्यक तथा यौनउत्पीड़ित पुरुष हर कोई अपने साथ...