यह ब्लॉग खोजें

गुरुवार, 11 मई 2017

मेहनत से ही मिलती है सफलता- वैष्णवी पटवर्धन



वैष्णवी टाइम्स 2016 में मोस्ट डिजायरेबल वुमेन की लिस्ट में टॉप 50 में रहीं।  वह मिस इंडिया 2016 की टॉप 10 कंटेस्टेनट रहीं।  
 माडलिंग से थियेटर में कदम रखकर अब वह फिल्मी दुनिया में अपने कदम जमा रही हैं। राजा एबरोडिया में वह एक पंजाबी लड़की का किरदार निभा रही हैं। वैष्णवी मूलतः पुणे की रहने वाली हैं। डीईएस लॉ कालेज, पुणे से वह लॉ कर रही हैं। पेश है मैं अपराजिता की खास बातचीत....
एक लॉ स्टूडेंट फिल्म थियेटर और माडलिंग की तरफ कैसे चली गई?
 मैं अपनी लॉ की पढ़ाई पूरी करूंगी। मेरे लिए एजूकेशन बहुत जरूरी है। आपका बेकग्राउंड स्ट्रांग होना चाहिए। मैं हर चीज को बहुत तार्किक तरीके से देखती हूं।  यही वजह है कि मेरी सोच बहुत पाजिटिव है। माडलिंग के प्रति मेरा रूझान पहले से था। फोटो शूट करवाती रहती थी।   फिल्म और थियेटर के लिए मम्मी ने प्रेरित किया। उनके कहने पर ही मैंने मिस इंडिया में  हिस्सा लिया।
 क्या कोई ट्रेनिंग ली ?
 हां मैंने टियारा इंस्टीट्यूट से 1 साल की ट्रेनिंग ली। मेरी ट्रेनर थी रितिका रामत्री।
 फिटनेस को लेकर क्या सोचती हैं
 फिटनेस बहुत जरूरी है। मिस इंडिया में हिस्सा लेने से पहले मेरा वजन 68 किलो था जिसे घटाकर मैंने 50 किलो किया। जिम और रोजाना केे वर्कआउट से यह संभव हो पाया।
आज का दौर पूरी तरह टैक्नोलाजी वाला है आप  कहां सक्रिय हैं।
 मुझे ब्लागिंग में मजा आता है। मेरा ब्लाग पर्सनल स्टाइल पर केंद्रित है। जहां मैं मेकओवर के बारे में बताती हूं। मुझे अच्छा लगा यूथ यह सब पढ़ना चाहता है।
आपकी आने वाली फिल्म कौन सी है? 
ं  फिल्म राजा एबरोडिया।  जिसमें  मैं एक पंजाबी लड़की का किरदार निभार रही हूं।
  आपका स्टाइल मंत्रा क्या है?
 यह मेरे मूड पर डिपेंड करता है। स्टाइलिश कपड़े पहनना और मेकअप मुझे पसंद है।
  आपकी फेवरेट बॉलीवुड मूवी?
रंग दे बसंती और जिंदगी न मिलेगा दोबारा
 आपके फेवरेट बॉलीवुड एक्टर और एक्टर्स
 रनवीर सिंह, आमिर खान, और प्रियंका चौपड़ा
आपके हिसाब से हर महिला में कौन सी तीन गुण हैं जो होने चाहिए?
बात करने का सलीका, आत्मविश्वास और शिष्टाचार।
यदि आपको आज के युवाओं को कोई एडवाइज देने को कहें तो आप क्या कहना चाहेंगी?
काम पर फोकस करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी।



special post

'me too' (मैं भी)-खयालात- सदन झा

आजकल वैश्विक स्तर पर 'me too' (मैं भी) अभियान चल रहा है। लड़कियां, महिलाएं, यौन अल्पसंख्यक तथा यौनउत्पीड़ित पुरुष हर कोई अपने साथ...