यह ब्लॉग खोजें

शनिवार, 30 जनवरी 2016



 अगर आप स्वस्थ हैं तभी आप जिंदगी का आनंद ले सकते हैं। स्वस्थ व्यक्ति को खाने-पीने के लिए किसी परहेज की जरूरत नहीं। स्वस्थ रहना आपक¢ हाथ में है। शरीर हमें समय-समय पर संक¢त देता है। जब हम खाना खाते हैं तो हमें अहसास हो जाता है कि हमारा पेट भर गया लेकिन हम फिर भी खाते रहते हैं जैसे इसक¢ बाद हमें यह दोबारा खाने को नहीं मिलेगा । खाना हमेशा संतुलित मात्रा में खाना चाहिए। किसी डायटिशियन से मिलकर हम फूड चार्ट बनवा सकते हैं। इसक¢ लिए कोई बहुत ज्यादा पैसे भी खर्च नहीं  करने होते। सरकारी अस्पतालों में तो यह सुविधा मुफ्त होती है। आजकल दिल की बीमारी,  डायबिटीज, थायराइड जैसी बीमारी आम हो गई हैं। इन सबकी वजह है हमारा खानपान। हर व्यक्ति का खानपान अलग अलग होता है अ©र इसकी वजह हमारी सांस्कृतिक विविधता भी है। खाना बनाने का तरीका बेशक अलग हो पर उसक¢ लिए जो सामग्री चाहिए वह एक ही है। परेशानी की वजह यह सामग्री ही है। हम जो सामग्री उपयोग में लाते हैं वह शुद्ध नहीं है। हम जो फैट यानी वसा खाते हैं वह हमारे लिए नुकसाहदेह है। लेकिन दुनियाभर में वसा का इस्तेमाल करने वाले करोड़ों लोग हंै। यह वसा हमारे दिल क¢ लिए नुकसाहदेह है। अगर हम खाने में सही तेल का इस्तेमाल करें तो  हार्टअटैक से होने वाली मौत को टाला जा सकता है। पिछले महीने ऐसी कई खबरें आईं जिनमें मौत का कारण हार्टफ¢ल बताया गया। 25 से 30 साल की उम्र में मरने वालों की बढ़ती तादाद हमें यह सोचने पर विवश करती है कि अगर यह हमारे खानपान अ©र रहन-सहन क¢ तरीक¢ की वजह से है तो क्यों न तरीकों  में बदलाव लाया जाए। अपनी जिंदगी को खुशहाल बनाया जाए। अमेरिका, ब्रिटेन, भारत में लोग सेचुरेटेड अ©र ट्रांस फैट का इस्तेमाल सबसे ज्यादा करते हैं। हम अच्छा खाद्य तेल इस्तेमाल में नहीं लाते। घर से बाहर का खाना किसी न किसी रूप में नियमित खाते हैं, जंक अ©र फास्टफूड हमारी रेगुलर हैबिट में शामिल हैं। इससे कोलेस्ट्राल बढ़ता है।
न्यूयार्क टाइम्स क¢ मुताबिक, 2010 में 186 देशों में होने वाली मौतों में सात लाख से ज्यादा मौत हार्ट अटैक से हुई। प्रभावित लोगों ने ओमेगा 6 अ©र पालीअनसेचुरेटेड  फैट बहुत कम मात्रा में खाया था। इसमें से करीब 3 लाख लोगों को सेचुरेटेड फैट की मात्रा कम करक¢ बचाया जा सकता था। ट्रांस फैट तली-भुनी चीजों अ©र बैक्ड चीजों क¢ अलावा जानवरों की चर्बी में भी होता है।
 क्या खाएं - मूंगफली, सोयाबीन,सूर्यमुखी के बीज , मक्के के दाने, हरी पत्तेदार सब्जी, अखरोट, मछली
 क्या न खाएं-पीएं - मांस , कोक
 क्या पढ़ें़- 161 हेल्दी हार्ट शाकाहारी रेसिपीज, लेखिका- नीरा कुमार

special post

'me too' (मैं भी)-खयालात- सदन झा

आजकल वैश्विक स्तर पर 'me too' (मैं भी) अभियान चल रहा है। लड़कियां, महिलाएं, यौन अल्पसंख्यक तथा यौनउत्पीड़ित पुरुष हर कोई अपने साथ...